IPL 2022 में कोलकाता नाइट राइडर्स का बुधवार को लखनऊ सुपर जायंट्स के साथ मुकाबले के बाद अभियान समाप्त हो गया. इस मैच में केकेआर की टीम को 2 रन के फासले से हार का सामना करना पड़ा. लखऩऊ ने पहले बैटिंग करते हुए बिना कोई विकेट गंवाए 210 रन का स्कोर खड़ा किया। इस बड़े लक्ष्य का पीछा करने उतरी कोलकाता निर्धारित 20 ओवर में 8 विकेट पर 208 रन बना पायी।

केकेआर को मैच में जीत के इतने पास लाने में रिंकू सिंह की भूमिका महत्वपूर्ण थी. एक समय जब वह ताबड़तोड़ बैटिंग कर रहे थे तो लगा जैसे केकेआर यह मुकाबला जीतने वाली है, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। रिंकू का कहना है कि एक बार चोट लगा जाने की वजह से उन्हें कुछ महीनों के लिए क्रिकेट से दूर रहना पड़ा। चोट का पता चलने पर उनके पिता ने 2-3 दिन तक खाना भी नहीं खाया।

IPL 2022 के इस मैच के बाद कोलकाता नाइट राइडर्स ने अपने ऑफिशियल फेसबुक पर गुरुवार को एक वीडियो अपलोड किया है, जिसमें रिंकू सिंह ने अपने करियर के संघर्ष के बारे में बताते है उन्होंने कहा, “पांच साल मेरे लिए मुश्किल भरे रहे. पहले साल मुझे केकेआर के लिए चुना गया. जब मुझे खेलने का मौका मिला तो मैं अच्छा प्रदर्शन नहीं कर सका. फिर भी केकेआर ने मुझ पर भरोसा किया और अगले कुछ सीजन तक रिटेन किया.” रिंकू सिंह को केकेआर ने साल 2018 में 80 लाख रुपये में खरीदा था, पर उनका इस्तेमाल बहोत ही काम हुआ.

IPL 2022

IPL 2022 : रिेंकू अपने घर में इकलौते कमाने वाले

उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ से आने वाले रिेंकू अपने घर में इकलौते कमाने वाले हैं. उन्होंने बातचीत के दौरान बताया “मेरी चोट के बारे में पता चलते पर पिता ने 2-3 दिन तक खाना नहीं खाया था. चोट के चलते मैं कई महीनों तक क्रिकेट से दूर रह था.”

रिंकू सिंह ने कहा, “मैंने अपने शरीर के बॉडी लैंग्वेज के हिसाब से कड़ी ट्रेनिंग की है. टीम ने कभी नहीं सोचा की मैं नीचे हूं. पिछला साल मेरे लिए काफी कठिन था. विजय हजारे ट्रॉफी के एक मैच के दौरान मैं डबल रन लेने की कोशिश में चोटिल हो गया. जिस वक्त मैं गिरा तो आईपीएल के बारे में सोचा. मुझे बताया गया की ऑपरेशन की जरूरत है और ठीक होने में 6-7 महीने लगेंगे.”

रिंकू सिंह के अनुसार, “मैं इतने लंबे समय तक क्रिकेट से दूर रहकर खुश नहीं था. मेरे पिता ने 2-3 दिनों तक खाना नहीं खाया. मैंने अपने पिता को बताया की यह सिर्फ एक चोट है जो क्रिकेट का हिस्सा है. मैं अपने परिवार का एक मात्र कमाने वाला हूं. जब ऐसी चीजें घटित होती हैं तो चिंता होना लाजिमी है.” उन्होंने आगे कहा, “मैं थोड़ा दुखी था, लेकिन मुझे पता था कि मैं जल्दी ठीक हो जाऊंगा क्योंकि मुझमें काफी आत्मविश्वास था.”

Leave a comment

Your email address will not be published.