आईपीएल 2022 का 65वां मुकाबला मंगलवार को मुंबई इंडियंस और सनराइजर्स हैदराबाद के बीच खेला गया। इस मैच के आखिरी ओवर में मुंबई इंडियंस की बल्लेबाजी और सनराइजर्स हैदराबाद की गेंदबाजी के बीच रोमांचक टक्कर देखी गई। इस टक्कर पर ही सनराइजर्स हैदराबाद के प्लेऑफ में पहुंचने की उम्मीद दाव पर लगी थी, लेकिन टीम के अनुभवी गेंदबाज ने रणनीति बनाई और मैच 3 रन से जीत लिया।

इस मैच में मुंबई इंडियंस ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का निर्णय किया, लेकिन राहुल त्रिपाठी की शानदार 76 रन की पारी के चलते सनराइजर्स हैदराबाद ने 193 रन बना लिए। लक्ष्य का पीछा करने उतरी मुंबई इंडियंस के सलामी बल्लेबाजों की अच्छी शुरुआत के बाद इस बार मिडिल ऑर्डर फेल होता नजर आया। मुंबई इंडियंस के लिए टिम डेविड की अक्रामक पारी के चलते एक बार फिर मैच पलटा और मुंबई इंडियंस के खेमे की तरफ झुका, लेकिन सनराइजर्स हैदराबाद के अनुभवी गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार 19वां ओवर लेकर गेंदबाजी के लिए आए और मैच पूरी तरह से सनराइजर्स हैदराबाद के पक्ष में ले गए। मुंबई इंडियंस को इस रोमांचक मैच में 3 रन से मात खानी पड़ी।

आईपीएल 2022

आईपीएल 2022 : भुवनेश्वर कुमार ने अपनी यॉर्कर गेंदों के दम पर बदला मैच

भुवनेश्वर कुमार ने 19वें ओवर में एक भी रन नहीं दिया, जिसकी बदौलत जीत सनराइजर्स हैदराबाद को झोली में आई।

भुवनेश्वर कुमार ने जीत के बाद उस ओवर का प्लान साझा किया। उन्होंने कहा कि, ”मैं सिर्फ यॉर्कर डालना चाह रहा था। सौभाग्य से मुझे लेग साइड पर बड़ी बाउंड्री मिली। मैं सिर्फ उन यॉर्कर को पकड़ने की कोशिश कर रहा था, भले ही मैं चूक गया। मैं बाउंड्री के लिए नहीं जा सकता था। टी नटराजन के ओवर के बाद भी, मुझे पता था कि अगर मैं 1 या 2 चौके देता हूं, तो आखिरी ओवर में दबाव हम पर होगा। मैं बस अपने प्लान पर अमल करना चाह रहा था। इस सीज़न में मैंने जिस तरह से गेंदबाजी की है, मैं उससे काफी संतुष्ट हूं।

विकेट कॉलम कुछ ऐसा है जो आप भाग्यशाली या अशुभ हो सकते हैं, मैं हमेशा किफायती ओवर गेंदबाजी करना चाहता हूं। इस तरह आपकी टीम के साथी को अगले ओवर में विकेट मिल सकते हैं। यह एक टीम गेम है, आप सिर्फ विकेट और लीक रनों की तलाश नहीं कर सकते, आर्थिक रूप से गेंदबाजी करना मेरी प्राथमिकता है। अगर मुझे विकेट मिलते हैं तो अच्छा है, नहीं तो मैं टीम के लिए काम कर रहा हूं”।

भुवनेश्वर कुमार ने उमरान मलिक की तारीफ करते हुए कहा कि “उमरान युवा और अभी कुछ कम अनुभवी हैं, उनके पास सीखने के लिए बहुत कुछ है, लेकिन उनके पास वह एक्स-फैक्टर है। श्रेय SRH प्रबंधन को जाता है, जिस तरह से उन्होंने उसका समर्थन किया है। किसी भी खिलाड़ी को तब गिराना आसान होता है जब वह लगातार 3-4 मैचों में काफी रन बनाता है, लेकिन उन्होंने उसका समर्थन किया और वह काफी मजबूत होकर वापस आया। ‘अपनी लेंथ बॉल को बैक करें, जब आप ज्यादा लेंथ की गेंदें फेंकेंगे, तो आपका यॉर्कर या बाउंसर प्रभावी होगा।’ यही एक सलाह हम सब उसे देते हैं”।

Leave a comment

Your email address will not be published.